Skip to main content

Posts

Showing posts from November, 2012

Designer Of The Month : Shalini Awasthi .

Designer Of The Month :  Shalini Awasthi .




भारतीय परिवेश में गहनों के प्रति स्त्रियों की चाहत आज से नहीं बल्कि सदियों से चली आ रही है....  गहनों के साथ अधिकतर हमारी कोई न कोई याद जुड़ी होती है. कभी हमारे पूर्वजों की निशानी तो कभी हमारे अपनों का प्यार व आशीर्वाद के रुप में हर गहना , हमारी ज़िंदगी के कुछ अनमोल पलों का साक्षी बन जाता है.... .... गहने हर किसी को अपनी ओर आकर्षित करते हैं....... खूबसूरत आभूषणों द्वारा खुद के व्यक्तित्व को साजाना व संवारना हर स्त्री का शौक होता है .और अपने इसी शौक को अपना प्रोफेशन व अपनी पहचान बना चुकी डिज़ायनर ' श्रीमती शालिनी अवस्थी ', आज तेजी से सफलता की सीढ़ियाँ चढ़ रही हैं व  जेम्स एवं ज्वेलरी उद्योग में अपनी पहचान बना रही हैं. ..... तो आइये मिलते हैं व जानते हैं  'श्रीमती शालिनी अवस्थी ' व उनके ज्वेलरी पैशन के बारे में .


अंग्रेज़ी साहित्य  में परास्नातक 'शालिनी अवस्थी' ने  इमिटेशन ज्वेलरी में विशेष योग्यता हासिल की है.  शालिनी कहती हैं , "ज्वेलरी बनाना हमेशा से ही मेरा  शौक था  ........ पारिवारिक ज़िम्मेदारियों के कारण अपने शौक …

फंकी गहनों के साथ बदलें अपना अंदाज़

फंकी गहनों के साथ बदलें अपना अंदाज़ :

ज के दौर में हर कोई अपने आप को ट्रेंडी लुक में ढ़ालना चाहता है. रोजमर्रा की ज़िंदगी की यदि बात करें तो युवा पीढ़ी अर्थात कॉलेज गोइंग युवतियाँ एवं प्रोफेशनल्स अर्थात कामकाजी महिलायें सोने- चाँदी इत्यादि कीमती धातुओं व रत्नजड़ित गहनों को अपनी दैनिक जीवन शैली में पहनने से परहेज करती है. कारण, कार्य भार व रोज की भागादौड़ी में कीमती गहनों के गुम हो जाने का डर. परंतु नारी और गहनों का रिश्ता सदियों से चला आ रहा है. नारी गहनों के बिना अधूरी सी लगती हैं व उनकी खूबसूरती को और दिलकश बनाने में गहनों की भूमिका को नजरअंदाज़ किसी भी कीमत पर नहीं किया जा सकता है.

इस लिहाज से अपने व्यक्तित्व को आकर्षण लुक देने के लिये ' फंकी ज्वैलरी ' एक बेहतरीन विकल्प है. फंकी गहने आधुनिक समय की मांग व युवा पीढ़ी और प्रोफेशनल्स की जरुरत बन गई है.

फंकी गहनों का सीधा अर्थ है कलात्मकता के आधार पर उपलब्ध संसाधनों जैसे कपड़ा, लेदर, वुडन बीड्स आदि द्वारा बनाई गई वो ज्वेलरी जो आपको ट्रेंडी व स्टाइलिश लुक दे.

तो आइये इस संदर्भ में जानते हैं कि किस प्रकार एक कपड़े को आप अपनी कलात्मकता क…